कस्बा डहरा पंचायत, प० उमरेण जिला मुखयालय से उत्तर में स्थित है। प्रखण्ड मुखयालय से इसकी दूरी १८ कि.मी. और जिला मुख्यालय से इसकी दूरी १२ कि.मी. है! पंचायत की कुल आबादी 7529 है जिसमें पुरूष लगभग 65% तथा महिलाओं की संख्या 35% है। पंचायत में नौ ग्राम आते है।

इस पंचायत में 4292 हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि पर खेती होती है, जिसमें मुखय रूप से सरसो,चना,आलू,जौ,प्याज,गेहूँ,बाजरा,मक्का इत्यादि फसलें उगायी जाती है। कृषि मजदूरों की संखया ज्यादा है तथा आम लोगों के पास खेती की जमीन कम होने के कारण ज्यादातर मजदूर पलायन कर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली में चले जाते हैं

 

इतिहास

dscf7092कस्बा डहरा पंचायत, प० उमरेण जिला मुखयालय से उत्तर में स्थित है। प्रखण्ड मुखयालय से इसकी दूरी १८ कि.मी. और जिला मुख्यालय से इसकी दूरी १२ कि.मी. है! पंचायत की कुल आबादी 7529 है जिसमें पुरूष लगभग 65% तथा महिलाओं की संख्या 35% है। पंचायत में नौ ग्राम आते है।

इस पंचायत में 4292 हेक्टेयर कृषि योग्य भूमि पर खेती होती है, जिसमें मुखय रूप से सरसो,चना,आलू,जौ,प्याज,गेहूँ,बाजरा,मक्का इत्यादि फसलें उगायी जाती है। कृषि मजदूरों की संखया ज्यादा है तथा आम लोगों के पास खेती की जमीन कम होने के कारण ज्यादातर मजदूर पलायन कर पंजाब, हरियाणा, दिल्ली में चले जाते हैं यहां का मुख्य पेशा कढ़ाई व मजदूरी पशुपालन है यहाँ  पास मे ही अलवर रेल्वे  स्टेशन है यहाँ से बहरोड रोड गुजरता है।यहा ग्राम पंचायत नौ ग्राम से मिलकर बनी है। इस ग्राम पंचायत मुखयाल पर एक प्रसिद्व मन्दिर है जिसे चरण दास बाबा के नाम से जानते है अलवर शहर से कम दूरी होने के कारण क्षेत्र के सभी लोग डहरा बाजार से यातायात के साधनो का प्रयोग मे लेते है! ग्राम पंचायत बडी होने के कारण इसको दो हिसो मे विभाजन करने का प्रस्ताव चल रहा है।